Tuesday, 15 October 2019

लैपटॉप में लिखकर करें टाइप

टिप संख्या दो - लैपटॉप या पीसी पर हिंदी या किसी भी भाषा में बोल कर टाइप करना
सूरजप्रकाश
आपको जानकर आश्चर्य होगा windows 10 और उसके बाद में वर्जन में आप लैपटॉप या पीसी पर पर बिना कोई सेटिंग किए सीधे ही english, chinese, french, german, spanish, Portuguese और Italian भाषा में बोलकर टाइप कर सकते हैं और जो टाइप किया है उसे सुन भी सकते हैं। इसके लिए वर्ड फाइल के दायीं तरफ dictation के बटन को दबाना भर होता है।

लेकिन पीसी या लैपटॉप में दी गई सैकड़ों भाषाओं में बोलकर टाइप करने के लिए आपको कुछ सेटिंग्स करनी पड़ती हैं और इसके लिए कुछ बेसिक जरूरतें हैं।
1. Google chrome
2. Google Doc
3. हिंदी या जिस भाषा में आप बोल कर टाइप करना चाहते है वह आपके सिस्टम में होनी चाहिये। bhashaindia.com से windows version के हिसाब से कोई भी भारतीय भाषा डाउनलोड की जा सकती है।
4. नेट कनेक्शन

पहले आप google chrome के जरिए google docs खोलें। गूगल क्रोम खोलने पर आपको स्क्रीन पर नौ रंगीन बिंदु नजर आते हैं। इनमें से एक गूगल डाक्स का है। अगर गूगल डॉक्स इन नौ में नहीं है तो more में आपको मिल जाएगा।

google docs में blank document खोलने पर आपको टूलबार में छठे नंबबर पर tools दिखायी देगा। tools को स्क्रौल करेंगे तो नीचे नौंवें नंबर पर आपको वॉइस टाइपिंग नजर आएगा। वॉइस टाइपिंग को क्लिक करेंगे तो बाई तरफ एक माइक बना नजर आएगा। माइक जब ऑफ होता है तो काले रंग का होता है। उसके ऊपर भाषा में इंग्लिश लिखा है। इंग्लिश को क्लिक करेंगे तो भाषाओं की लंबी सूची नजर आएगी। हिंदी काफी नीचे है। हिंदी सेलेक्ट कर लें। अब माइक ऑन करें। माइक का रंग बदल कर लाल हो जाता है।
बोलकर हिंदी में टाइप करने के लिए आपका सिस्टम तैयार है।

ईयरफोन या ब्लू टूथ ईयरफोन या माइक हो तो बेहतर वरना वैसे भी काम चल जाता है।

आपकी बात कहे जाने और टाइप किए जाने में 1 सेकंड का अंतर आता है। जैसे जैसे बोलते जाएंगे और टाइप होता जाएगा। लैपटॉप या पीसी पर टाइप करने में यह सुविधा रहती है कि आप एंटर करके अगली लाइन में जा सकते हैं। थोड़े से अभ्यास से आप अपने बोलने की पिच और गति सेट कर सकते हैं। सिस्टम अगर कोई शब्द नहीं पकड़ रहा तो चिंता न करें। बाद में spell check से या खुद ही एडिट कर सकते हैं।

आप इस मैटर को कॉपी पेस्ट करके वर्ड फाइल में ले जा कर सेव कर सकते हैं या ऊपर टूलबार में दिये गये शेयर बटन बटन का इस्तेमाल करके भी एमएस वर्ड फाइल में भेज सकते हैं।

 अगर आपने अपने मोबाइल में भी गूगल डॉक्स डाउनलोड किया हुआ है तो आपकी यह फाइल अपने आप आपके मोबाइल के गूगल डाक्स में पहुंच जाएगी जिस तरह मोबाइल के गूगल डाक्स की फाइल लैपटाप में अपने आप जा जाती है। आपको ट्रांसफर करने की जरूरत नहीं है।

बस याद रखें कि गूगल डाक्स गूगल क्रोम के जरिये ही खोलना है और नेट कनेक्शन होना चाहिये।

तो आज ही शुरू करें और कोई तकलीफ हो तो बंदा हाजिर है।

No comments:

Post a comment